ajad log

Just another weblog

250 Posts

727 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1601 postid : 113

विश्वगुरु बने भारत मेरा

Posted On: 1 Sep, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मै चाहता हूँ विश्वगुरु बने भारत मेरा
लेकिन चारो तरफ ही चोर है गद्दार है
रौशनी कहा है यहाँ, अन्धेरा ही अँधेरा है
जिसके हाथ में मैंने दी थी अपने देश की बागडोर , वही आज मेरे देश को है लुट रहे

साल ,महीने बीतते रहे वादे हर बार होते रहे
घोटाले यहाँ होते रहे ,लोग मरते रहे यहाँ
सफ़ेद कपडे वाले बस भाषण ही देते रहे
गरीबी से लोग मरते रहे ,गोली बम से लोग
मरते रहे ,
भूखो पेट जहा सोती है जनता वहा नेता
ही एक मालामाल है
मै चाहता हूँ विश्वगुरु बने भारत मेरा
लेकिन अभी कहा माहोल है वो यहाँ,
लेकिन अभी कहा माहोल है वो
यहाँ

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ISHWAR KUMAR SAHU के द्वारा
October 15, 2011

जग में भारत माँ ही एक ऐसी माँ है जो दुनिया की माँ कहाती है जग में केवल एक ही गुरु ऐसी है जो दुनिया को राह दिखाती है आत्म पीडाओं से रोने वालों को मेरी माँ खिलखिलाकर हँसना सिखाती है उंगली पकड़ कर न सही पर वेद कुरान के द्वारा हमें चलना सिखाती है भारत माँ की संस्कृति खुद से ज्यादा औरों को प्रकाश दिखाती है ऐसा मेरा भारत माँ है और निर्मल पवन यहाँ की माटी है एक मत हो यह संकल्प हमारा है हम गर्व से कहेंगे भारत विश्वगुरु हमारा है, हमारा है…………….

    ISHWAR KUMAR SAHU के द्वारा
    October 15, 2011

    मुझे क्या मतलब ये कहना मत / इस धोखे में हमेशा रहना मत क्योंकि ये जलती हुई दीया तेरे घर की है बेवकूफी से फूंकते रहना मत पढ़ने वालों जरा ध्यान देना इस बात को अनदेखी करते रहना मत अगर भारत माँ की सुहाग ना बची तो दूसरों को कुछ कहना मत क्योंकि आप हम खुद है माँ की आँचल को कटने से बचाने वाले और काटने वाले हमारी बेवकूफी पर गौर सब करेंगे और दुनिया बन जायेंगे हँसाने वाले ( परन्तु अब संकल्प ये करना है की अपनी धरती माँ को फिर वही पद पर बैठना है जो कुछ वर्ष पहले बैठी थी / जो हमारी ही गलतियों के वजह से वह पद छीन ली गई थी हमें फिर वापस दिलाना है / ये एक माँ की पुकार है पूरा करना बेटा का पूर्ण अधिकार है / भारत माता की सदा जय हो…. शुभ कामनाये /

    vikasmehta के द्वारा
    October 16, 2011

    ISHWAR KUMAR SAHU जी .नमस्कार मै आपसे सहमत हूँ अच्छे विचार

    ch.sanjeev tyagi (kutabpur waley) के द्वारा
    January 24, 2012

    देश में किसान आज भी शोषण -दोहन के शिकार बने हुए हैं. कर्ज और भूख से परेशान किसान आत्महत्या कर रहे हैं. आज यदि स्वामीजी होते तो फिर लट्ठ उठाकर देसी हुक्मरानों के खिलाफ संघर्ष का ऐलान कर देते. लेकिन दुर्भाग्य से किसान सभा भी है. उनके नाम पर अनेक संघ और संगठन सक्रिय हैं. लेकिन स्वामीजी जैसा निर्भीक नेता दूर -दूर तक नहीं दिखता. उनके निधन के साथ हीं भारतीय किसान आंदोलन का सूर्य अस्त हो गया. ch.sanjeev tyagi (kutabpur waley) 33,gazawali roorkee road muzaffar nagar u.p 09457392445,08802222211,09760637861

Santosh Kumar के द्वारा
September 2, 2011

विकास जी ,.सुंदर विचार ,..हम पहले आत्मशुद्धि करें …फिर आगे की सोचें ,..सादर धन्यवाद http://santo1979.jagranjunction.com/

    vikasmehta के द्वारा
    September 2, 2011

    संतोष कुमार जी धन्यवाद इसे ही जोश बढ़ाते रहे


topic of the week



latest from jagran